Saturday , July 2 2022
Home / BREAKING / आज का हिन्दू पंचांग ~ 16 मई 2022

आज का हिन्दू पंचांग ~ 16 मई 2022

~आज का हिन्दू पंचांग ~

⛅दिनांक 16 मई 2022
⛅दिन – सोमवार
⛅विक्रम संवत – 2079
⛅शक संवत – 1944
⛅अयन – उत्तरायण
⛅ऋतु – ग्रीष्म
⛅मास – वैशाख
⛅पक्ष – शुक्ल
⛅तिथि – पूर्णिमा सुबह 09:43 तक तत्पश्चात प्रतिपदा
⛅नक्षत्र – विशाखा दोपहर 01:18 तक तत्पश्चात अनुराधा
⛅योग – वरियान सुबह 06:18 तक तत्पश्चात परिघ
⛅राहुकाल – सुबह 07:38 से 09:17 तक
⛅सूर्योदय – 05:58
⛅सूर्यास्त – 07:14
⛅दिशाशूल – पश्चिम दिशा में
⛅ब्रह्म मुहूर्त- प्रातः 04:32 से 05:15 तक
⛅निशिता मुहूर्त – रात्रि 12.14 से 12:57 तक
⛅व्रत पर्व विवरण- बुद्ध पूर्णिमा, चन्द्रग्रहण , वैशाख पूर्णिमा, वैशाख स्नान समाप्ति
⛅ विशेष – पूर्णिमा के दिन तुलसी पत्त्ता एवं बिल्वपत्र तोड़ना, तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।
(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)

🌹चन्द्रग्रहण- 16 मई 2022🌹

🌹16 मई के दिन सोमवार को लगने वाला यह चंद्रग्रहण पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा। भारतीय मानक समयानुसार इस बार ग्रहण का समय- प्रात: 07.02 मिनट से शुरू होकर दोपहर 12:20 तक रहेगा । दिन होने के कारण यह चंद्रग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। जिसमें सूतक अथवा ग्रहण के कोई भी नियम पालनीय नहीं होते हैं।

🌹 इस ग्रहण को दक्षिण-पश्चिमी यूरोप, एशिया, अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, प्रशांत महासागर, हिंद महासागर में देखा जा सकेगा । इस ग्रहण जहां दिखाई देगा, वहीं इस ग्रहण के नियम पालनीय हैं ।
– दृक पंचांग-

🌹पूज्य बापूजी ने पहले भी हमें बताया था कि ग्रहण के समय जप ध्यान करने से पुण्यलाभ होता है । इसलिए इस चन्द्र ग्रहण में सभी साधक भाई-बहनें अधिक से अधिक जप करें।
🔹वैशाखी पूनम🔹
🌹 वैशाख मास की पूर्णिमा की कितनी महिमा है !! इस पूर्णिमा को जो गंगा में स्नान करता है , भगवत गीता और विष्णु सहस्त्र नाम का पाठ करता है उसको जो पुण्य होता है उसका वर्णन इस भूलोक और स्वर्गलोक में कोई नहीं कर सकता उतना पुण्य होता है | ये बात स्कन्द पुराण में लिखी हुई है | अगर कोई विष्णु सहस्त्र नाम का पाठ न कर सके तो गुरु मंत्र की १० माला जादा कर ले अपने नियम से |
– श्री सुरेशानंदजी Haridwar 6th May’ 2012

🔹गर्मी की बीमारियों की जड़ें काटनेवाला है पेठा

🔹पका हुआ पेठा त्रिदोषशामक, विशेषत: पित्तशामक है | गर्मी से जो बीमारियाँ होती हैं यह उन सबकी जड़ें काटता है |
🔹पेठा थकान तो मिटाता है, साथ में नींद भी अच्छी लाता है | पका पेठा अमृत के समान है | पेठे के बीज भी बादाम के समान गुणकारी हैं |

About admin

Press Ki Taquat(Daily Punjabi Newspaper) Patiala

Check Also

मुख्यमंत्री द्वारा ठेके के आधार पर काम कर रहे सभी योग्य कर्मचारियों की सेवाएं रेगुलर करने के लिए तीन सदस्यीय कैबिनेट कमेटी का गठन

कैबिनेट कमेटी कानूनी विशेषज्ञों की सलाह के साथ नया मसौदा बिल के कानूनी पहलुओं की …