Friday , October 7 2022
Home / BREAKING / नेशनल स्कॉलरशिप एक्जाम एएनटीएचई 2022 के तहत करीब 2,000 वंचित छात्रों और छात्राओं को स्कॉलरशिप और नीट एवं जेईई की निशुल्क कोचिंग देगा आकाश बायजूस

नेशनल स्कॉलरशिप एक्जाम एएनटीएचई 2022 के तहत करीब 2,000 वंचित छात्रों और छात्राओं को स्कॉलरशिप और नीट एवं जेईई की निशुल्क कोचिंग देगा आकाश बायजूस

नई दिल्ली, 10 अगस्त (प्रेस की ताकत बयूरो)-  भारत सरकार की ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ पहल के मौके पर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराने वाले अग्रणी संस्थान आकाश बायजूस ने ‘एजुकेशन फॉर ऑल’के माध्यम से उच्च शिक्षा के लिए निजी कोचिंग में छात्राओं के सशक्तीकरण एवं समावेशन के लिए बड़ी पहल का एलान किया है। इसके तहत वंचित परिवारों के 7वीं से 12वीं कक्षा के करीब 2000 छात्रों, विशेषरूप से लड़कियों को नीट एवं जेईई की निशुल्क कोचिंग एवं स्कॉलरशिप प्रदान की जाएगी।

दिल्ली के एयरोसिटी में जेडब्ल्यू मैरिएट होटल में मुख्य कार्यक्रम के साथ-साथ देश में 45 स्थानों पर एक साथ इस पहल की लॉन्चिंग की गई। दिल्ली में मुख्य कार्यक्रम में आकाश बायजूस के चेयरमैन श्री जे. सी. चौधरी, मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आकाश चौधरी और सीईओ श्री अभिषेक माहेश्वरी व कंपनी के अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम में आकाश बायजूस के पूर्व छात्र भी उपस्थित रहे, जो एएनटीएचई के माध्यम से संस्थान से जुड़े थे। पूर्व छात्रों को उनकी शैक्षणिक उपलब्धियों के लिए ट्रॉफी एवं बुके देकर सम्मानित किया गया।

इस प्रोजेक्ट के तहत चयनित छात्र आकाश बायजूस के नेशनल टैलेंट हंट एक्जाम – 2022 (एएनटीएचई 2022) में हिस्सा लेंगे। यह संस्थान की फ्लैगशिप स्कॉलरशिप परीक्षा है, जो देशभर में ऑनलाइन एवं ऑफलाइन माध्यम से 5 से 13 नवंबर तक आयोजित की जाएगी। टॉप 2,000 छात्रों को नीट एवं आईआईटी-जेईई के लिए सर्वाधिक लोकप्रिय कोचिंग प्रोग्राम में शुमार आकाश बायजूस की निशुल्क कोचिंग का मौका मिलेगा।

लाभार्थी छात्रों की पहचान के लिए आकाश कुछ चुनिंदा एनजीओ के साथ साझेदारी करेगा, जो आर्थिक रूप से कमजोर तबके के छात्रों, परिवार में इकलौती लड़की और सिंगल पैरेंट (मां) वाले बच्चों को नॉमिनेट करेंगे। पूरे भारत में आकाश बायजूस के करीब 285 से ज्यादा सेंटर हैं और यह देश के किसी कोचिंग इंस्टीट्यूट की सर्वाधिक शाखाएं हैं। हर सेंटर पर औसतन 9 क्लासेज होती हैं।

‘एजुकेशन फॉर ऑल’पहल को लेकर आकाश बायजूस के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आकाश चौधरी ने कहा,‘इस इंडस्ट्री में इतने समय से कार्य करते हुए हमने अनुभव किया कि हमारे देश में लगातार मेडिकल एवं इंजीनियरिंग को लेकर महत्वाकांक्षा बढ़ रही है। हमारे युवा इन दोनों क्षेत्रों में स्वयं के विकास एवं सामाजिक योगदान को लेकर मौजूद संभावनाओं और अवसरों को समझ रहे हैं। हालांकि ऐसे लाखों छात्र हैं जिनके लिए निजी कोचिंग संस्थानों में जाना संभव नहीं होता है, जबकि ऐसी कोचिंग प्रवेश परीक्षा पास करने की उनकी संभावना को बढ़ा सकती है। लड़कियों के मामले में मुश्किल और भी बढ़ जाती है, क्योंकि बहुत से परिवार लड़कियों की शिक्षा पर बहुत ज्यादा खर्च नहीं करना चाहते हैं। इस कारण से वंचित समुदाय के छात्रों, विशेषरूप से लड़कियों के लिए मौके और भी कम हो जाते हैं। ‘एजुकेशन फॉर ऑल’के माध्यम से हम ऐसे छात्रों के लिए प्रोफेशनल कोर्सेज की कोचिंग के अवसर को बढ़ाने की दिशा में एक छोटा सा प्रयास कर रहे हैं।‘

उन्होंने जोर देकर कहा कि इन छात्रों की कोचिंग की गुणवत्ता से किसी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘इस पहल के पीछे हमारा विचार है कि आकाश बायजूस के प्रत्येक केंद्र को केवल कोचिंग के मामले में ही नहीं, बल्कि समावेशन एवं महिला सशक्तीकरण के मामले में भी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस का सबसे तेजी से बढ़ता नेटवर्क बनाया जाए। हमें भरोसा है कि इस पहल को गरीब परिवारों, इकलौती बेटी वाले परिवारों एवं सिंगल पैरेंट (मां) की तरफ से अच्छी प्रतिक्रिया मिलेगी।‘

एजुकेशन फॉर ऑल पहल के तहत मिलने वाली स्कॉलरशिप एएनटीएचई स्कॉलरशिप के अलावा होगी। पहले की ही तरह 13वें संस्करण यानी एएनटीएचई 2022 के तहत मेरिट वाले छात्रों को 100 प्रतिशत तक की स्कॉलरशिप तथा बेहतर प्रदर्शन करने वाले छात्रों को नकद पुरस्कार भी दिया जाएगा। इनके अतिरिक्त 5 छात्रों को अपने एक अभिभावक के साथ नासा जाने का मौका भी मिलेगा। अपनी लॉन्चिंग से अब तक एएनटीएचई ने 33 लाख से ज्यादा छात्रों को स्कॉलरशिप दी है।

एएनटीएचई एक घंटे की परीक्षा है। एएनटीएचई ऑनलाइन का आयोजन परीक्षा के सभी दिनों में आकाश बायजूस के सभी 285 से ज्यादा सेंटर में सुबह 10 बजे से शाम 7 बजे तक होगाऔरऑफलाइन परीक्षा 6 और 13 नवंबर को दो शिफ्ट में सुबह 10:30 से 11:30 और शाम 4:00 से 5:00 बजे होगी। छात्र अपने हिसाब से कोई स्लॉट चुन सकते हैं।

एएनटीएचई में कुल 90 अंक होते हैं। इसमें 35 मल्टीपल चॉइस प्रश्न होते हैं, जो छात्र की कक्षा एवं स्ट्रीम के हिसाब से होते हैं। सातवीं से नौवीं कक्षा के लिए फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी, मैथ और मेंटल एबिलिटी के प्रश्न होते हैं। कक्षा 10 के छात्रों के लिए मेडिकल की तैयारी करने वालों की परीक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी एवं मेंटल एबिलिटी के प्रश्न होते हैं, जबकि इंजीनियरिंग की तैयारी करने वाले छात्रों के लिए फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ और मेंटल एबिलिटी के प्रश्न होते हैं। नीट की तैयारी कर रहे 11वीं एवं 12वीं के छात्रों की परीक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री, बोटनी और जूलोजी के प्रश्न आते हैंतथा इंजीनियरिंग के लिए फिजिक्स, केमिस्ट्रीऔर मैथ के प्रश्न आते हैं।

About admin

Press Ki Taquat(Daily Punjabi Newspaper) Patiala

Check Also

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोगः फारेस्ट गार्ड की नियुक्ति का विज्ञापन

लखनऊ (विशाल वर्मा)-उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने फॉरेस्ट गार्ड/वन दरोगा के 701 पदों …