Monday , July 4 2022
Home / Ambala / बच्चो के खेलने का एक भी ग्राउंड नही बचा अम्बाला छावनी में:-ओंकार सिंह

बच्चो के खेलने का एक भी ग्राउंड नही बचा अम्बाला छावनी में:-ओंकार सिंह

 

प्रत्येक वर्ष होने वाला महान कीर्तन दरबार ग्राउंड की अव्यवस्था के कारण नही हो सका।

गांधी ग्राउंड में बना साईकल ट्रैक मिट्टी में मिला, जिम्मेवार कौन ?

अम्बाला छावनी में बच्चों के खेलने की कोई भी जगह न होने पर अपनी राय देते हुए इनैलो प्रदेश प्रवक्ता ओंकार सिंह ने कहाकि अम्बाला छावनी के विकास के नाम पर गांधी ग्राउंड, दशहरा ग्रन्ड व फुटबाल स्टेडियम तीनो को जनता से छीन लिया गया है। आज गांधी ग्राउंड का अपनी टीम के साथ मुआयना करने पहुंचने पर उन्होंने कहाकि फुटबाल स्टेडियम में 115 करोड़ से अधिक खर्च होने के पश्चात भी 5 वर्ष बीत जाने पर भी जनता को समर्पित नही किया गया जबकि इसमे मोटा घोटाला होने की आशंका है जो सरकार बदलने के पश्चात उजागर होगा। दशहरा ग्राउंड को डंगर ग्राउंड बना दिया गया है जहां गन्दी के साथ साथ आवारा पशुओं का जमावड़ा होता है और गांधी ग्राउंड में से पहले डंपिंग स्टेशन बनाया गया बाद में सब्जी मंडी जिससे ग्राउंड छोटा हो गया और फिर इसमें 30 लाख रुपये की लागत से साईकल ट्रैक बना दिया गया। जनधन की बर्बादी तो हुई ही साथ ही जनता के खेलने व सामूहिक आयोजन करने का स्थान भी खत्म हो गया। हर वर्ष विशाल कीर्तन दरबार का आयोजन गांधी ग्राउंड में होता था जो अब गन्दगी, अव्यवस्था व नियमो की अनदेखी के कारण नही हो पा रहा। साईकल ट्रैक पर लगे 30 लाख रुपये भी मिट्टी में मिल चुके हैं कोई पूछने-सुनने वाला नही। उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग की कि अम्बाला छावनी की दुर्व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए बच्चों के खेलने के स्थान व सामूहिक आयोजन के लिए उचित व्यवस्था की जाए ताकि बच्चो को खेलने का स्थान मिले जिससे खेल प्रतिभाएं प्रफुल्लित हो सके और सामूहिक आयोजन भी हो सके। इस अवसर पर अशोक धवन, रमेश यादव, मदन लाल, अजय जैन, प्राण नाथ वैद, मेहर सिंह जाट व अन्य उपस्थित थे।

About Jagdeep Singh

Check Also

ऐडा ने अस्पताल में जरूरतमंद मरीजों को बांटे दूध, बिस्किट और फल

  अम्बाला :-  अम्बाला इलैक्ट्रिकल डीलर्स एसोसिएशन रजि (ऐडा) द्वारा अध्यक्ष राकेश मक्कड़ के मार्गदर्शन …