Saturday , July 2 2022
Home / CHANDIGARH / वन लाइनर गीता ; गीता के सभी 18 अध्यायों का सार मात्र 18 वाक्यों में

वन लाइनर गीता ; गीता के सभी 18 अध्यायों का सार मात्र 18 वाक्यों में

किसी भी पुरुष या महिला से पूछें जो 40 वर्ष की आयु तक पहुँच गया है, क्या वह गीता का एक भी श्लोक और उसका अर्थ जानता है?

मैं यहाँ गीता के सभी 18 अध्यायों का सार मात्र 18 वाक्यों में देता हूँ।

वन लाइनर गीता –
यदि आप भी सहमत हुए तो
क्या आप इसे आगे बढ़ाएंगे और सभी को प्रसारित करेंगे? प्रत्येक से अनुरोध है कि इसे 4 दिनों में 100 व्यक्तियों को अग्रेषित करें। आपके राज्य के भीतर ही नहीं बल्कि पूरे भारत में इसे फॉरवर्ड किया जाना चाहिए।

वन लाइनर गीता

अध्याय 1 – गलत सोच ही जीवन की एकमात्र समस्या है।
अध्याय 2 – सही ज्ञान ही हमारी सभी समस्याओं का अंतिम समाधान है।
अध्याय 3 – निःस्वार्थता ही प्रगति और समृद्धि का एकमात्र मार्ग है।
अध्याय 4 – प्रत्येक कार्य प्रार्थना का कार्य हो सकता है।
अध्याय 5-व्यक्तित्व के अहंकार को त्यागें और अनंत के आनंद का आनंद लें।
अध्याय 6 – प्रतिदिन उच्च चेतना से जुड़ें।
अध्याय 7 – आप जो सीखते हैं उसे जिएं।
अध्याय 8 – अपने आप को कभी मत छोड़ो।
अध्याय 9 – अपने आशीर्वाद को महत्व दें।
अध्याय 10 – चारों ओर देवत्व देखें।
अध्याय 11 – सत्य को जैसा है वैसा देखने के लिए पर्याप्त समर्पण करें।
अध्याय 12 – अपने मन को उच्चतर में लीन करें।
अध्याय 13 – माया से अलग होकर परमात्मा से जुड़ो।
अध्याय 14 – एक ऐसी जीवन-शैली जिएं जो आपकी दृष्टि से मेल खाती हो।
अध्याय 15 – देवत्व को प्राथमिकता दें।
अध्याय 16 – अच्छा होना अपने आप में एक पुरस्कार है।
अध्याय 17 – सुखद पर अधिकार चुनना शक्ति की निशानी है।
अध्याय 18 – चलो चलें, ईश्वर के साथ मिलन की ओर बढ़ते हैं।

(इस सिद्धांत में से प्रत्येक पर आत्मनिरीक्षण करें)

|| तत्सत् ||

About admin

Press Ki Taquat(Daily Punjabi Newspaper) Patiala

Check Also

~ आज का हिन्दू पंचांग ~ 02 जुलाई 2022

~ आज का हिन्दू पंचांग ~ ⛅दिनांक – 02 जुलाई 2022 ⛅दिन – शनिवार ⛅विक्रम …