Monday , July 4 2022
Home / BREAKING / मुख्यमंत्री द्वारा अपनी किस्म के पहले निवेकले प्रोग्राम ’लोक मिलनी’ की शुरूआत

मुख्यमंत्री द्वारा अपनी किस्म के पहले निवेकले प्रोग्राम ’लोक मिलनी’ की शुरूआत

पहल का मकसद लोगों की शिकायतों का तुरंत निपटारा करना
भगवंत मान द्वारा लोगों को राहत देने के लिए चरणबद्ध निर्देश जारी

 

चंडीगढ़, 16 मई (प्रेस की ताकत बयूरो)- पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आज लोगों की शिकायतों का मौके पर निपटारा करने के लिए अपनी सरकार के पहले निवेकले प्रोग्राम ’लोक मिलनी’ का आग़ाज़ किया।
यहाँ पंजाब भवन में इस प्रोग्राम की शुरूआत करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘यह मेरी सरकार का एक विनम्र सा प्रयास है जिससे यह यकीनी बनाया जा सके कि हम लोगों को उनके लंबे समय से लटकते प्रशासनिक मुद्दों को हल करने के लिए सहूलतें उपलब्ध कर सकें।’’
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस प्रोग्र्र्र्र्र्राम का मकसद लोगों की शिकायतों के तत्काल निपटाने को यकीनी बनाना है। भगवंत मान ने कहा कि उनकी सरकार के उच्च अधिकारी इस ’लोक मिलनी’ के दौरान उनके साथ हैं जिससे लोगों की तरफ से उठाए गए मामलों का मौके पर ही निपटारा किया जाये। भगवंत मान ने कहा कि इस पहल का मकसद यह यकीनी बनाना है कि लोगों को अपने काम करवाने के लिए परेशान न होना पड़े।

पंजाब भवन में इस ‘लोक मिलनी’ दौरान 61 शिकायतकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के आगे अपनी शिकायतें रखी। उन्होंने इस मौके पर उपस्थित अलग-अलग विभागों के उच्च अधिकारियों को हिदायत की कि इन शिकायतों का समयबद्ध और नतीजा प्रमुख ढंग से तुरंत निपटारा करना यकीनी बनाया जाये। भगवंत मान ने कहा कि वह हर हफ़्ते निजी तौर पर इन शिकायतों की प्रगति की निगरानी करेंगे। उन्होंने कहा कि इस काम की प्रक्रिया में किसी भी तरह की ढील को किसी भी कीमत पर बरदाश्त नहीं किया जायेगा।

इस दौरान एक शिकायत का निपटारा करते हुये मुख्यमंत्री ने सामाजिक न्याय और सशक्तिकरन विभाग को योग्य लाभार्थियों को ‘शगुन स्कीम’ के लम्बित बकाए तुरंत जारी करने के लिए कहा। एक अन्य शिकायत पर भगवंत मान ने जल स्रोत विभाग को यह यकीनी बनाने के लिए कहा कि हरेक लाभार्थी को बिना किसी पक्षपात के पीने वाले पानी की सप्लाई की जाये। डॉ. सीमा रानी, जिसके पति का करीब दो साल पहले कोविड-19 महामारी के दौरान देहांत हो गया था, की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कहा कि वह सरकार की नीति अनुसार उसे जल्दी से जल्दी नौकरी देने को यकीनी बनाएं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार नशे की बीमारी के प्रति असहनीय व्यवहार अपना रही है और इस कुरीति का राज्य में से सफाया किया जायेगा। उन्होंने कहा कि पुलिस भर्ती परीक्षा का निष्पक्ष और पारदर्शी नतीजा जल्द ही घोषित किया जायेगा और चयनित उम्मीदवारों को जल्द ही नियुक्ति पत्र दिए जाएंगे। भगवंत मान ने लोगों की शिकायतों के तुरंत निपटारे के लिए अलग-अलग विभागों को कई हिदायतें भी जारी की।
इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ ’लोक मिलनी’ में शामिल हुए लोगों ने नागरिकों को तुरंत राहत देने के लिए भगवंत मान सरकार के इस नेक और जन हितैषी पहल की सराहना की।
इस मौके पर मुख्य सचिव अनिरुद्ध तिवारी, डायरैक्टर जनरल आफ पुलिस वी.के.भावरा, अतिरिक्त मुख्य सचिव सीमा जैन, सरबजीत सिंह, अनुराग अग्रवाल और अनुराग वर्मा, प्रमुख सचिव तेजवीर सिंह, आर.के.गैंटा, अलोक शेखर, विवेक प्रताप सिंह, सचिव गुरकिरत किरपाल सिंह, सुमेध सिंह गुर्जर और अजोए शर्मा आदि भी उपस्थित थे।

About admin

Press Ki Taquat(Daily Punjabi Newspaper) Patiala

Check Also

OMG : घर को वास्तु शास्त्र जाँच और उपाय की आवश्यकता

एक व्यक्ति ने व्यापार में उन्नति की और लंदन में ज़मीन ख़रीद उस पर आलीशान …